Latest For Me

PM मोदी या राहुल गांधी? बैलेट पेपर या EVM? जानें क्या है युवाओं की पसंद

pm-मोदी-या-राहुल-गांधी?-बैलेट-पेपर-या-evm?-जानें-क्या-है-युवाओं-की-पसंद

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ देशPM मोदी या राहुल गांधी? बैलेट पेपर या EVM? जानें क्या है युवाओं की पसंद

इस साल 9 राज्यों में विधानसभा और अगले साल लोकसभा के चुनाव होने वाले हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अक्सर कहा करते हैं कि देश की बड़ी आबादी 35 साल से कम उम्र की युवाओं की है।

PM मोदी या राहुल गांधी? बैलेट पेपर या EVM? जानें क्या है युवाओं की पसंद

Himanshu Jhaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्ली।Wed, 25 Jan 2023 11:45 AM

ऐप पर पढ़ें

इस साल 9 राज्यों में विधानसभा और अगले साल लोकसभा के चुनाव होने वाले हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अक्सर कहा करते हैं कि देश की बड़ी आबादी 35 साल से कम उम्र की युवाओं की है। उन्हीं युवाओं से जब उनकी राजनीति समझ, राजनेताओं के बारे उनकी राय और देश के बारे में पूछा गया तो कई रोचक परिणाम सामने आए हैं। सीएसडीएस की इस सर्वे में शामिल अधिकांश युवाओं के पास मतदाता पहचान पत्र नहीं थे। इन्होंने चुनाव कराने के लिए बैलेट की जगह ईवीएम को वरीयता दी। उनका यह भी मानना है कि राजनीति में भी रिटायरमेंट की एक उम्र होनी चाहिए।  

यह सर्वे 16 से 20 जनवरी के बीच दिल्ली विश्वविद्यालय और अन्य कॉलेजों के 18-34 आयु वर्ग के 761 छात्रों के बीच किया गया था। इनसे जब पूछा गया कि लोकसभा चुनाव कब होता है तो 10 में 7 युवाओं को इसकी सही जानकारी थी। 79 प्रतिशत लड़कों और 55 प्रतिशत लड़कियों ने इसका सही जवाब दिया। सर्वे में शामिल सिर्फ 55 प्रतिश युवाओं के नाम वोटर लिस्ट में शामिल हैं। इनमें 58 प्रतिशत पुरुष और 51 प्रतिशत महिलाएं शामिल हैं। 

भारत में चुनावों में मतपत्रों पर ईवीएम की विश्वसनीयता पर जारी बहस के बीच छात्रों से उनकी राय पूछी गई। पांच में से चार ने मतपत्रों की जगह ईवीएम मशीनों को प्राथमिकता दी है। वहीं, उनसे जब पूछा गया कि क्या वे भारत में राजनेताओं के लिए रिटायरमेंट की उम्र तय करने का समर्थन करते हैं तो चार में से तीन ने इसका समर्थन किया। इसके अलावा पांच में से चार छात्रों का यह भी मानना था कि भारत में चुनाव लड़ने के लिए न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता होनी चाहिए। 

‘एक देश, एक चुनाव’ पर जारी बहस के बीच युवाओं से भी उनकी राय जानने की कोशिश की गई। अधिकांश युवाओं का मानना था कि लोकसभा और विधानसभा चुनाव एक ही समय पर होने चाहिए। पांच में से तीन ने इसके पक्ष में उत्तर दिया।

युवाओं से नेताओं के गुणों के बारे में पूछा गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बारे में पूछे जाने पर 16% युवाओं ने कहा कि उन्हें उनके बोलने की कला काफी पसंद हैं। 15% युवाओं ने पीएम मोदी को उनकी नीतियों के लिए पसंद किया। दस में से एक ने उन्हें एक करिश्माई नेता करा दिया। वहीं, 17% ऐसे भी युवा थे, जिनके पासे पीएम मोदी को पसंद करने का कोई कारण नहीं था।

कांग्रेस सांसद राहुल गांधी के बारे में भी युवाओं से पूछा गया। 35% युवाओं ने कहा कि राहुल गांधी को पसंद करने का एक भी कारण उनके पास नहीं है। राहुल को पसंद करने वालों में से 13% ने कहा कि वे उनकी धर्मनिरपेक्ष और समावेशी विचारधारा के कारण उन्हें पसंद करते हैं। दस में से एक ने कहा कि वह काफी मेहनत करते हैं।

इन दोनों के अलावा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के बारे में भी युवाओं को पूछा गया। इन दोनों के बाद केजरीवाल सबसे अधिक पसंद किए जाने वाले नेता बनकर उभरे। जब छात्रों से एक ऐसे नेता का नाम बताने के लिए कहा गया जिसे वह मोदी और राहुल के अलावा सबसे ज्यादा पसंद करते हैं तो 19% ने केजरीवाल का नाम लिया। वहीं, 9% ने कहा कि वे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पसंद करते हैं। 7% युवाओं ने भाजपा नेता नितिन गडकरी का नाम लिया।

Facebook
Twitter
LinkedIn
Pinterest

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top