Latest For Me

L

l

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ NCR‘दिल्ली में सबसे कम महंगाई’, CM केजरीवाल ने केंद्र का डेटा देकर किया दावा; कहा- मुफ्त बिजली पानी से हुआ संभव

छत्रसाल स्टेडियम में गणतंत्र दिवास समारोह के संबोधन में अरविंद केजरीवाल ने कहा कि देश में बहुत महंगाई है। दिल्ली में भी महंगाई लेकिन यह दूसरे राज्यों की तुलना में बहुत कम है।

'दिल्ली में सबसे कम महंगाई', CM केजरीवाल ने केंद्र का डेटा देकर किया दावा; कहा- मुफ्त बिजली पानी से हुआ संभव

Swati Kumariवरिष्ठ संवाददाता,नई दिल्लीWed, 25 Jan 2023 07:13 PM

ऐप पर पढ़ें

दिल्ली मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि बीते 7-8 साल में हमने जितना काम किया है, उसी का असर है कि आद देश में दिल्ली के अंदर सबसे कम महंगाई है। केंद्र सरकार की रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि दिल्ली में महंगाई की दर 3 फीसदी है। गुजरात में यह 7 फीसदी, हरियाणा में 7.8 फीसदी और उत्तर प्रदेश में 6.8 फीसदी है। क्योंकि, आज दिल्ली में बिजपी-पानी मुफ्त है। सरकारी स्कूलों में पढ़ाई व अस्पतालों में इलाज मुफ्त है। 

छत्रसाल स्टेडियम में गणतंत्र दिवास समारोह के संबोधन में अरविंद केजरीवाल ने कहा कि देश में बहुत महंगाई है। दिल्ली में भी महंगाई लेकिन यह दूसरे राज्यों की तुलना में बहुत कम है। दिल्ली में जो सामान 100 रूपये मिलता है वह मध्य प्रदेश में 250 रूपये में मिलेगा। दिल्ली में मुफ्त बस सफर, तीर्थ योजना व अस्पतालों में इलाज मुफ्त होने के कारण ही महंगाई दर कम है। दिल्लीवालों के साथ मिलकर ने बीते कुछ सालों में इतना काम किया है आज हम हर क्षेत्र में आगे है।  

केजरीवाल ने कहा कि केंद्र सरकार ने कई सर्वे कराया है उसके जो परिणाम आएं है उसके मुताबिक सबसे ज्यादा स्टार्टअप दिल्ली में हो रहे है। पिछले साल 5000 स्टार्ट अप दिल्ली में हुआ। पहले बंगलुरू हमसे आगे था वह पीछे चला गया है। दिल्ली ई-वाहनों की राजधानी बन चुकी है हमने कर्नाटका को पीछे छोड़ दिया है। हरित क्षेत्र बढ़ा है आज प्रति 9.6 वर्गमीटर में पेड़ या वन (हरित क्षेत्र) है। हैदराबाद में हमसे पीछे वहां 8.2 वर्गमीटर पर है। 

शिक्षा की राजधानी बन चुकी है दिल्ली 
अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली शिक्षा की राजधानी बन चुकी है। देश के सरकारी स्कूलों का सर्वे हुआ तो 10 में 5 स्कूल दिल्ली के है। बीते सालों में सरकारी स्कूलों में पढ़ने वालों छात्रों की संख्या 21 फीसदी (14-50 लाख से बढ़कर 18 लाख तक पहुंची) बढ़ी है। परीक्षा परिणाम बेहतर हुए है। बीते साल 99 फीसदी से अधिक बच्चे पास हुए है। ऐसा इसलिए हम शिक्षा में अपने बजट का 25 फीसदी हिस्सा खर्च कर रहे है। केजरीवाल ने कहा कि सुरक्षा के लिए सीसीटीवी कैमरे हो या फिर डॉक्टर्स की संख्या दिल्ली में इनकी अमरीका लंदन से ज्यादा है। 

दूध-दही जैसी खाने की चीजों पर जीएसटी हटे 
अरविंद केजरीवाल ने कहा कि बीते एक साल में कई खाने पीने की वस्तुओं जैसे दही, दूध, आटा के ऊपर जीएसटी लगा दिया गया है। मैं केंद्र सरकार से अपील करता हूं कि, जिसे देश के लोगों की अपील भी मानी जाएं कि खाने-पीने की चीजों पर जीएसटी वापस ले लिया जाएं। उसकी वजह से खानी पीने की चीजें महंगी हो गई। आम आदमी के लिए घर का खर्च चलाना मुश्किल है। दूसरा की जीएटसी को सरल बनाया जाएं। व्यापारियों से बात होती है वह ईमानदारी से टैक्स देना चाहते है लेकिन जटिल व्यवस्था के चलते वह इधर-उधर करते है। हमें ईमानदार व्यापारियों की मदद करनी चाहिए। जीएसटी को आसान बनाने की जरूरत है। 

सीमा पर आंख दिखा रहे चाइन का बहिष्कार हो 
गणतंत्र दिवस के संबोधन में अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हमारी सीमाओं के ऊपर चीन हमें आंखें दिखा रहा है। यह हम सब लोगों के लिए चिंता का विषय है। सीमा पर हमारे सैनिक उनसे लड़ रहे है लेकिन देश की सरकार और हर भारतवासी का फर्ज बनता है कि हम उनकी इस लड़ाई में साथ दे। चाइना को संदेश दिया जाएं कि भारत के लोग यह बर्दाश्त नहीं करेंगे। हमें चाइना का बहिष्कार कर उसे कड़ा संदेश थे। लेकिन उसके उलट हमने चाइना से व्यापार बढ़ा लिया है। 2020 में हमने चीन से 65 बिलियन डॉलर का व्यापार किया, वहीं 2021 में यह बढ़कर 95 बिलियन डॉलर का हो गया। चाइन का व्यापार बढ़ाकर वह हमारे ही पैसों से हथियार लेकर हमें ही आंख दिखा रहा है।

चीन से आने वाले सामान का उत्पादन भारत में हो 
केजरीवाल ने कहा कि चप्पल, जूता, गद्दे और चश्मा तक हम चाइना से खरीद रहे है। यह सारी चीज हम भारत में बना सकते है। इससे हम चीन का व्यापार कम कर सकते है देश में युवाओं के लिए रोजगार, सरकार को टैक्स भी मिलेगा। ये ऐसा सामान भी नहीं है जिसे हम देश में नहीं बना सकते है। हम ना सिर्फ चाइना का व्यापार बढ़ा रहे है उसे अपना रोजगार भी दे रहे है और पैसा भी। देश के उद्योगपतियों को मौका देना होगा। चाइना को कड़ा संदेश जाएगा कि हमें तुम्हारे सामान की जरूरत नहीं है। लेकिन देश में यह माहौल नहीं बन रहा है यही वजह है कि बीते 5-6 सालों में 12 लाख व्यापारी व उद्योगपति भारत छोड़कर बाहर चले गए। भारत में धंधा करना मुश्किल हो गया है। यही वजह है कि चाइना का व्यापार बढ़ रहा है। 

एक दूसरे से सीखकर आगे बढ़ेगा देश 
केजरीवाल ने कहा कि मैं कुछ दिन पहले तेलंगाना गया था। वहां मुख्यमंत्री चार करोड़ लोगों की आंख की जांच करेगा। यह अच्छी व्यवस्था है मैं दिल्ली में इसे लागू करूंगा। उन्होंने कहा कि हमें एक दूसरे से सीखने की जरूरत है। अगर कोई राज्य अच्छा काम कर रही है उसे दूसरे राज्य में लागू करना चाहिए। इसी मोहल्ला क्लीनिक जो दिल्ली में हुआ उसे दूसरे राज्य लागू कर रहे है। केरल का स्वास्थ्य व्यवस्था ठीक है तो उसे दूसरे राज्यों में पूरे देश में लागू करना चाहिए। हम आपस में सीखेंगे तो सारी समस्या का समाधान निकाल सकते है। हम सीख नहीं रहे है हम लड़ रहे है। ये लोग (केंद्र सरकार) आजकल देख रहा हूं कि न्यायिक व्यवस्था से लड़ रहे है। जजों से लड़ने की क्या जरूरत है। ये सारी राज्य सरकार से लड़ रहे है। किसी को काम नहीं करने देते है। किसानों से, छात्रों से, व्यापारियों से, उद्योगपतियों से भी लड़ रहे है। अगर हम लड़ाई झगड़ा छोड़कर एक दूसरे के साथ मिलकर काम करें तो देश की तरक्की कोई नहीं रोक सकता है। 
 

Facebook
Twitter
LinkedIn
Pinterest

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top