Latest For Me

भारत-पाक सीमा पर ऑपरेशन अलर्ट शुरू,

भारत-पाक-सीमा-पर-ऑपरेशन-अलर्ट-शुरू,

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ देशभारत-पाक सीमा पर ऑपरेशन अलर्ट शुरू, ‘हरामी नाला’ पर BSF की नजर; आखिर क्यों बढ़ी इतनी चौकसी

गुजरात में कच्छ के साथ भारत-पाकिस्तान सीमा संवेदनशील है, क्योंकि कई पाकिस्तानी नागरिक अतीत में मछली पकड़ने के लिए भारतीय जल क्षेत्र में प्रवेश करने के बाद नावों के साथ पकड़े गए हैं।

भारत-पाक सीमा पर ऑपरेशन अलर्ट शुरू, 'हरामी नाला' पर BSF की नजर; आखिर क्यों बढ़ी इतनी चौकसी

ऐप पर पढ़ें

सीमा सुरक्षा बल (BSF) ने राजस्थान से लगती भारत-पाकिस्तान सीमा पर ‘ऑपरेशन अलर्ट’ लॉन्च किया है। बीएसएफ की ओर से गुजरात के कच्छ जिले और राजस्थान के बाड़मेर में बॉर्डर पर चौकसी बढ़ा दी गई है। सेना ने रविवार को कहा कि आगामी गणतंत्र दिवस समारोह को ध्यान में रखकर यह एक्सरसाइज शुरू हुई है। ‘बीएसएफ गुजरात फ्रंटियर’ की ओर जारी प्रेस रिलीज में इसे लेकर विस्तार से जानकारी दी गई। इसमें कहा गया कि शनिवार से शुरू हुई यह कवायद गणतंत्र दिवस समारोह के दौरान राष्ट्रविरोधी तत्वों के किसी भी बुरे मंसूबे को विफल करने के लिए की जा रही है।

बीएसएफ की ओर से बताया गया कि ‘ऑपरेशन अलर्ट’ अभ्यास 21 जनवरी को शुरू हुआ और 28 जनवरी तक चलेगा। इस दौरान सर क्रीक (दलदली क्षेत्र) से भारत-पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय सीमा के साथ-साथ गुजरात में कच्छ के रण और राजस्थान के बाड़मेर जिले में अतिरिक्त चौकसी बरती जाएगी। विज्ञप्ति में कहा गया कि बीएसएफ इस कवायद के तहत अग्रिम और गहराई वाले क्षेत्रों के साथ-साथ खाड़ियों और ‘हरामी नाला’ में विशेष अभियान चलाएगा।

‘हरामी नाला’ के बारे में जानिए 
बता दें कि ‘हरामी नाला’ गुजरात के कच्‍छ इलाके स्थित है जो भारत और पाकिस्‍तान को बांटने वाला 22 किलोमीटर लंबा समुद्री चैनल है। यह दोनों देशों के बीच सर क्रीक इलाके की 96 किलोमीटर लंबी विवादित सीमा के तहत आता है। इतने लंबे नाले को घुसपैठियों और तस्‍करों के लिए स्‍वर्ग के समान माना जाता है। इसी वजह से इसका नाम ‘हरामी नाला’ पड़ गया है। यहां पानी का स्‍तर ज्‍वार-भाटा और मौसम के हिसाब से बदलता रहता है। इसीलिए इसे बेहद खतरनाक भी कहा जाता है।

कच्छ से लगी भारत-पाक सीमा संवेदनशील 
गुजरात में कच्छ के साथ भारत-पाकिस्तान सीमा संवेदनशील है, क्योंकि कई पाकिस्तानी नागरिक अतीत में मछली पकड़ने के लिए भारतीय जल क्षेत्र में प्रवेश करने के बाद नावों के साथ पकड़े गए हैं। आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, BSF ने 2022 में गुजरात के इस क्षेत्र से 22 पाकिस्तानी मछुआरों को पकड़ा था। इसके अनुसार बीएसएफ ने मछली पकड़ने की 79 नाव और 250 करोड़ रुपये मूल्य की हेरोइन और 2.49 करोड़ रुपये मूल्य की चरस जब्त की थी।

गणतंत्र दिवस परेड में पहली बार NCB की झांकी
इस साल 26 जनवरी को कर्तव्य पथ पर होने वाले गणतंत्र दिवस परेड में पहली बार स्वापक नियंत्रण ब्यूरो (NCB) की झांकी को शामिल किया जाएगा, जिसके जरिए नशा से दूरी का संदेश दिया जाएगा। सीनियर अधिकारी ने बताया कि एनसीबी की झांकी के साथ उसके कर्मी और श्वान दस्ते के 2 सदस्य भी परेड में हिस्सा लेंगे। मालूम हो कि भारत में मादक पदार्थ की रोकथाम करने के लिए एनसीबी नोडल एजेंसी है और यह केंद्रीय गृह मंत्रालय के अंतर्गत आती है। गणतंत्र दिवस परेड में 23 झांकियों को शामिल किया जा रहा है, जिनमें से 17 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की हैं, जबकि 6 झांकियां विभिन्न मंत्रालयों और विभागों की हैं।
(एजेंसी इनपुट के साथ)

Facebook
Twitter
LinkedIn
Pinterest

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top