Latest For Me

तुम तो ठहरे परदेसी…पैरोडी सॉन्ग गाकर CM शिवराज से जताई नाराजगी, MP के आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की क्या है मांग?

तुम-तो-ठहरे-परदेसी…पैरोडी-सॉन्ग-गाकर-cm-शिवराज-से-जताई-नाराजगी,-mp-के-आंगनबाड़ी-कार्यकर्ताओं-की-क्या-है-मांग?

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ मध्य प्रदेशतुम तो ठहरे परदेसी…पैरोडी सॉन्ग गाकर CM शिवराज से जताई नाराजगी, MP के आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की क्या है मांग?

महिलाओं ने कहा, हरी मिर्ची लाल मिर्ची होती बड़ी तेज बहने बड़ी सीधी-सादी और मामा बड़े तेज। मामा आप वादा तो करते हैं पर निभाता नहीं। इस बार आप धोखा खा जाएंगे। हम तो चाहते हैं कि आप हर साल राज करो।

तुम तो ठहरे परदेसी...पैरोडी सॉन्ग गाकर CM शिवराज से जताई नाराजगी, MP के आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की क्या है मांग?

ऐप पर पढ़ें

मध्य प्रदेश के खंडवा में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिका धरने पर बैठी हैं। धरना प्रदर्शन के दौरान इन आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं में पैरोडी सॉन्ग गा कर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को चेतावनी दी है। महिलाओं ने गाया, ‘तुम तो ठहरे परदेसी साथ क्या निभाओगे…हमारे मांगे नहीं मानी तो तुम भी हार जाओगे।’ बता दें कि ये आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिका अपनी 13 सूत्रीय मांगों को लेकर धरना प्रदर्शन कर हड़ताल पर बैठी हैं। ये धरना 28 जनवरी तक जारी रहेगा। महिलाओं ने कहा, ‘मामा वादा तो करते हैं पर निभाता नहीं है। ऐसे में इस बार मामा धोखा खा सकते हैं।’

पैरोडी सॉन्ग से मामा को चेतावनी
धरने पर बैठी महिलाओं ने ‘तुम तो ठहरे परदेसी’ गीत पर एक पैरोडी सॉन्ग बनाकर पैरोडी गाकर कहा, ‘तुम तो ठहरे परदेसी साथ क्या निभाओगे…हमारे मांगे नहीं मानी तो तुम भी हार जाओगे।’ इतना ही नहीं धरने पर बैठी आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को मुहावरों के अंदाज में भी चेतावनी दी।

मुहावरों से भी कसा तंज
महिलाओं ने कहा, ‘हरी मिर्ची लाल मिर्ची होती बड़ी तेज बहने बड़ी सीधी-सादी और मामा बड़े तेज। मामा आप वादा तो करते हैं पर निभाता नहीं। इस बार आप धोखा खा जाएंगे। हम तो चाहते हैं कि आप हर साल राज करो। हमारी यही कामना है, लेकिन हमारे से किए वादे भी पूरे करो। वरना इस बार धोखा खा जाओगे।’

ये है मांग
आंगनबाड़ी कार्यकर्ता नीतू बागड़ी ने गीत गाकर चेतावनी भरे अंदाज में कहा कि हम आंगनबाड़ी कार्यकर्ता लोगों के बीच जाते हैं अगर आप हमारी बात मानोगे तो हम लोगों को भी सही राय देंगे। उन्होंने कहा, हमारे परिवार में जो भी वोट डालता है उससे भी वोट डलवा आएंगे, लेकिन अगर आप हमारे बारे में नहीं सोचोगे तो हम अगले बरस आपको कैसे जिताएंगे? हमें 3 महीने से तनख्वाह नहीं मिली है। हमारे मानदेय बढ़ाने और परमानेंट करने की मांग भी अभी तक पूरी नहीं हुई। उन्होंने कहा कि ये मांग पिछले 15 सालों से लंबित है।

अगर मांग नहीं मानी तो आगे भी ये आंदोलन करते रहेंगे
आंगनवाड़ी कार्यकर्ता सहायिका संघ की अध्यक्ष अनिता कुल्हारे ने बताया कि लंबित मांगों को लेकर हम धरने पर बैठे हैं। अब हमने तालाबंदी हड़ताल की है। जिसके चलते पूरे प्रदेश में यह हड़ताल की जा रही है। आज हमने किसी भी तरह से कोई काम नहीं किया, पोषण आहार और अन्य काम अधिकारी कर्मचारी ही देख रहे हैं। अनीता कोलारे ने कहा कि शासन ने जो हमसे वादे किए हैं, वह झूठे निकले।

अनिता कुल्हारे ने बताया कि हमसे कहा गया था कि हमारा मानदेय बढ़ेगा, पहले जो बढ़ा हुआ मानदेय था वह भी अभी तक हमें नहीं दिया गया। कोरोना काल के दौरान किए गए कार्य का भी अभी तक भुगतान नहीं हुआ है। 3 महीने से हमारा मानदेय भी रोककर रखा गया है, जबकि हम शासन की हर योजना में काम करते हैं। अगर हम काम से मना करते हैं तो विभाग हम पर कार्रवाई करता है। उन्होंने कहा कि हमारी मांग है कि हमारी कार्यकर्ता और सहायिका बहनों को शासकीय कर्मचारी का दर्जा दिया जाए। 28 तक हम धरना प्रदर्शन पर बैठे हैं। अगर हमारी मांगे नहीं मानी गई तो हम आगे भी इसी तरह से आंदोलन करते रहेंगे।

Facebook
Twitter
LinkedIn
Pinterest

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top